Shiksha Manovigyan (in Hindi)

Front Cover
Atlantic Publishers & Dist, Jan 1, 2004 - 554 pages
8 Reviews
 

What people are saying - Write a review

User ratings

5 stars
5
4 stars
0
3 stars
0
2 stars
0
1 star
0

User Review - Flag as inappropriate

neice book written good

User Review - Flag as inappropriate

amar manovigyan books

All 8 reviews »

Selected pages

Common terms and phrases

अत अथवा अधिक अध्ययन अनेक अन्तर अन्य अपनी अपने आदि आयु आयु में आवश्यक इन इस इस प्रकार इसके उगे उदाहरण के लिए उनके उस उसका उसकी उसके उसको उसमें उसे एक कम कर करता है करते करना करने करने के कल का काम कारण कालक किये किसी की के अनुसार के लिए के विकास को कोई क्योंकि खेल गया चाहिए जा सकता है जाता है जाती जाते जाने जो तक तथा तरह दिया दो दोनों द्वारा ध्यान नहीं नहीं है निम्नलिखित ने पड़ता है पता पद पर परन्तु परीक्षण पहले प्रकार प्रभाव प्रयोग प्राप्त भी मनोविज्ञान मर मानसिक में यदि यम यल यवनों यह या ये रा रूप से रो वन वल वह वहुत वाले विधि विभिन्न विशेष विषय में व्यक्ति व्यक्ति के व्यक्तित्व व्यवहार शारीरिक शिक्षा शिक्षार्थी शिशु सकती सकते सबसे सभी समय सहायता सोखने ही हुए है और है कि हैं हो होता है होती होने

Bibliographic information