Mann Ke Duniya

Front Cover
Rajkamal Prakashan, Sep 1, 2007 - Life skills - 241 pages
मन की दुनिया में प्रस्तुत है मन से जुड़े आपके हर सवाल का समाधान! - मन के अजब-निराले खेल - टोने-टोटकों, ओझा-सयानों और तांत्रिकों का सच - मन को चिंतामुक्त रखने की युक्तियां - जीवन के तूफानों-तनावों से उबरने के नुस्खे - लाडले का व्यक्तित्व संवारने के उपाय - ड्रग्स, मदिरा और तंबाकू से छुटकारा पाने के रास्ते - डिप्रेशन की पहचान और इलाज - पैनिक अटैक और उसकी दवा - तर्कहीन भय-फोबिया के समाधान - ओब्सेसिव-कंपलसिव डिसऑर्डर का इलाज - मन के कारण होने वाले शरीर के रोग - स्किटजोफ्रेनिया की मायावी दुनिया और उसका इलाज - काउंसलिंग, थैरेपी और दवाओं का लाभ और...और भी बहुत कुछ!

What people are saying - Write a review

We haven't found any reviews in the usual places.

Other editions - View all

About the author (2007)

डॉ. यतीश अग्रवाल एम.बी.बी.एस., एम.डी., डी.एस.सी. जन्म: 20 जून, 1959; बरेली (उ.प्र.)। आरंभिक शिक्षा दिल्ली एवं लखनऊ में। आयुर्विज्ञान की उच्चतर शिक्षा यूनिवर्सिटी कॉलेज ऑफ मेडिकल साइंसेज, दिल्ली, बल्लभभाई पटेल चेस्ट इंस्टीट्यूट, दिल्ली, किंग्जवे कैंप टी.बी. अस्पताल, दिल्ली, और सफदरजंग अस्पताल से। दिल्ली विश्व- विद्यालय से डॉक्टर ऑफ मेडिसिन। 1998 में फाउंडेशन फॉर डिटेक्शन ऑफ अर्ली गैस्ट्रिक कार्सिनोमा, जापान, के तत्त्वावधान में अंतर्राष्ट्रीय फैलोशिप और नेशनल कैंसर सेंटर हॉस्पिटल, टोक्यो, में उच्चतर प्रशिक्षण। विज्ञान परिषद्, इलाहाबाद से 1999 में विज्ञान वाचस्पति (डॉक्टर ऑफ साइंस) की उपाधि। संप्रति, दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में वरिष्ठ चिकित्सक। डॉ. अग्रवाल देश में स्वास्थ्य और जनप्रिय आयुर्विज्ञान साहित्य के प्रमुख रचनाकारों में से हैं। सन् 1980 से उनके स्तंभ और लेख-चिंतन देश के प्रमुख राष्ट्रीय हिंदी-अंग्रेजी दैनिकों और पत्र-पत्रिकाओं में नियमित रूप से प्रकाशित होते आ रहे हैं। उन्होंने बच्चों, किशोरों और नवसाक्षरों के लिए भी प्रचुर रूप से लिखा है और रेडियो-टेलीविजन के लिए भी सीरियलों का अभिकल्पन और लेखन किया है। उनके कॉलम स्वास्थ्य सुलझन (गृहशोभा), ओपीडी (हिन्दुस्तान) और सैकेंड उपीनियन (हिन्दुस्तान टाइम्स) पाठकों के बीच अत्यंत लोकप्रिय हैं। उनके पूर्व-प्रकाशित कॉलमों में परामर्श, दस सवाल, स्वास्थ्य परिक्रमा, चेक आउट, एक्सप्रेस क्रुसेड फॉर हेल्थ विशेष रूप से उल्लेखनीय हैं। उनकी बहुत-सी पुस्तकें बेस्टसेलर साबित होने के बाद अब हिंदी और अंग्रेजी के साथ-साथ देश की अन्य भाषाओं में भी उपलब्ध हैं। अपने कृतित्व के लिए डॉ. अग्रवाल भारत सरकार के शिक्षा पुरस्कार (2003), साहित्यकार सम्मान (हिंदी अकादमी, 2003), आत्माराम सम्मान (1999), राष्ट्रीय विज्ञान पुरस्कार (1999), मेघनाद साहा सम्मान (1991, ’92, ’93) और स्वास्थ्य मंत्रालय के राष्ट्रीय पुरस्कार (1994, ’95, ’97) से अलंकृत किए जा चुके हैं। डॉ. अग्रवाल देश के उन चुनिंदा चिकित्सकों में हैं जो अस्पताल के बाहर भी देशवासियों के स्वास्थ्य के प्रति मन-प्राण से समर्पित हैं।

Bibliographic information