Jīvana ko palaṭāne vālī eka adbhuta jīvana-kahānī, Volume 1

Front Cover
Prajāpitā Brahmākumārī Īśvarīya Viśva-Vidyālaya, 1973 - Hindus
0 Reviews
Reviews aren't verified, but Google checks for and removes fake content when it's identified
Biography of Dada Lekharaja, 1876-1968, founder of the Brahmakumari sect in Hinduism.

From inside the book

What people are saying - Write a review

We haven't found any reviews in the usual places.

Contents

Section 1
6
Section 2
61
Section 3
62

17 other sections not shown

Common terms and phrases

अतः अथवा अनुभव अपनी अपने अब आज आत्मा आदि आप आये इन इस प्रकार ईश्वरीय ईश्वरीय ज्ञान उन उनका उनकी उनके उन्हें उन्होंने उस एक ऐसा ओर कई कर करती करते थे करने कहा का कार्य किया किसी की कुछ के लिए के लिये को को भी कोई क्या क्योंकि गया गये घर जब जाता जाते जाने जी जीवन जो ज्ञान तक तथा तब तरह तो था कि थी थीं थे दादा दिन दिया दिव्य देते द्वारा नहीं पत्र पर परन्तु परमपिता परमात्मा पवित्र पहले प्रभु फिर बच्चे बहुत ही बात बाद बाबा ने ब्रह्मा ब्रह्माकुमारी भारत भी मन में मुझे में मैं मैंने यह यहाँ या ये रहा रही रहे हैं रूप ले लोग लोगों लौकिक वह वहाँ वाले वे शिव बाबा सत्संग सभी समय साथ सृष्टि से सेवा स्वयं हम हमने हमारे हमें ही हुआ हुई हुए हूँ है और है कि हैं हो होता होते होने

Bibliographic information