Karyakshamta Ke Liye Aayurveda Aur Yog

Front Cover
Vinod Verma (Dr), 2000 - Hatha yoga - 186 pages
Self-healing and self-realization through ayurveda and yoga.
 

Selected pages

Contents

आभार
15
स्वास्थ्य रक्षा
33
स्वास्थ्य और दीर्घ जीवन की कुंजी
50
योग द्वारा नवजीवन
99
सन्तुलन और शान्ति का आधार 139150
139
सत्व समय को विस्तृत करने की कुंजी 151165
151
शक्तिर्द्धन और रोग से बचाव 166184
166
त्रिदोषीय असन्तुलन का निदान और उपचार विशिष्ट वनस्पतियों या तेलों से गीली
179
भारत में डॉ वर्मा के केन्द्र 185186
185
Copyright

Other editions - View all

Common terms and phrases

अगर आप अत्यधिक अधिक अपना अपनी अपने अभ्यास आपकी आपके आपको आयुर्वेद आयुर्वेदिक आहार इन इस इसका इसके इसलिए इससे इसे उत्पन्न उदाहरण उपचार उपयोग ऊर्जा एक कफ कर सकते हैं करता है करती करते हैं करना चाहिए करने के लिए करें का काम कार्य किसी की ओर कीजिए कुछ के कारण के बाद के लिए के साथ को कोई क्योंकि गया गरम चित्र जब जा सकता है जाता है जाते हैं जीवन जो ठीक तक तब तरह तीन तेल तो तौर पर दिन देह देह के दोनों द्वारा ध्यान नहीं नहीं है पर पानी पित्त प्रकार फिर बहुत बार भी भीतर भोजन मात्रा मानस मानसिक मिश्रण मुद्रा में मैं यह या रूप से ले लें लेकिन लोग लोगों वह वात वाले विकार वे व्यक्ति शक्ति सकता है सन्तुलन सभी समय सहायता से स्वास्थ्य हम ही हुए है और है कि हो हो सकती होता है होती होते हैं होने

Bibliographic information