Gaṛharājya śāsana kī yādeṃ

Front Cover
Kusuma Latā Prakāśana, 1995 - Garhwal (India : Region) - 231 pages
0 Reviews
Reviews aren't verified, but Google checks for and removes fake content when it's identified
History of Garhwal, India; covers the period 15th to 20th century.

From inside the book

What people are saying - Write a review

We haven't found any reviews in the usual places.

Contents

Section 1
78
Section 2
91
Section 3
109

7 other sections not shown

Common terms and phrases

अधिकार अपना अपनी अपने आदि आरम्भ इन इस उनके उन्हें उस उसका उसकी उसके उसको उसने उसे एक एवं और कर दिया करते करने के कहा का कारागार कार्य कि किन्तु किया किसी की ओर कुछ कुमायूँ के पास के बाद के लिए के लिये के साथ को कोई गई गढ़वाल गया था गये गाँव जनता जब जाता जाने जी जो टिहरी राज्य तक तथा तब तो था कि थी थे दिन दिया गया दी दी गई देने देहरादून दो द्वारा नरेन्द्रशाह नहीं नाम पत्र पर पहले पुत्र प्रकार प्रजा प्राप्त फिर बहुत ब्रिटिश सरकार भारत भी महाराजा मृत्यु यह या रहा रही रहे राजा ने राज्य के राज्य में रुपये लगा लिया लेकर लोग वर्ष वह वहाँ वाले वे व्यक्ति व्यवस्था शासन शाह श्री श्रीनगर सन् सभी समय सरकार ने सिंह सुदर्शनशाह सुमन से सेना सैनिकों स्थान ही हुआ हुई हुए हुये है हैं हो गया होने

Bibliographic information