Roopmandan Sanskrit - Hindi

Front Cover
Motilal Banarsidass Publishe
This 21st century book on the subject of the solar return horoscope is devoted to practical astrology, developed by Yavancharya, a persian astrologer. The information contained in this book is of immense use to the students and aspirents enabling them to make swifter progress in their decisions. in short this book is unique in itself as it contains the so far unfolded Secrets of the Solar Revolutions.
 

What people are saying - Write a review

User Review - Flag as inappropriate

aman

User Review - Flag as inappropriate

Very good book to study Vastu Shastra.

Contents

Section 1
Section 2
Section 3
Section 4
Section 5
Section 6
Section 7
Section 8
Section 9
Section 10
Section 11
Section 12

Common terms and phrases

१० अंगुल अग्निपुराण अध्याय अन्य अपर आठ आदि आयुध इन इन्द्र इस प्रकार है उनके एक हाथ कमल का पाठ का विधान का विवरण कार्तिकेय किन्तु की की तरह की प्रतिमा के अनुसार के आधार पर के लिये को क्रमश गणेश गदा चक्र चार चाहिये जा जो तक तथा तर्जनी ताल तालिका तीन तु तो था दक्षिण दण्ड दाहिने देवता दो दोनों नहीं है नाम ने पद्य पर परम्परा पार्वती पाश पीठिका पृ० बताया गया है बनाना चाहिये ब्रह्मा भाग भी मण्डन मान मुख मुद्रा में भी में है मैं यम यह या रूप रूपम-डन रूपमण्डन रूपमण्डनों वरद वरुण वर्ण वह वास्तु वास्तुशास्त्र वाहन विवेचन विशेष विष्णु वे शक्ति शिव शेष संख्या सभी सूत्रधार सूर्य से स्थित हाथ में हाथों में ही हे है और है कि है है हैं हैं तथा हो होता है होती होते

Bibliographic information